Tuesday, 21 February 2017

शिवरात्रि पर भगवान शिव को प्रसन्न के उपाय |

हिन्दू धर्म के अनुसार भगवान शिव को भोलेनाथ के रूप में भी जाता है, ऐसा इसलिए है कि क्योंकि वे अतिशीघ्र ही प्रसन्न हो जाते है | इसलिए इन्हें आशुतोष भी कहा जाता है | आइए जानते है ऐसी कुछ वस्तुओ के बारे में जो भगवान शिव को अत्यधिक प्रिय है और इन चीजो को शिवरात्रि पर अर्पित करने से भोलेनाथ आपकी हर मनोकामना पूरी करते है -   

- भगवान शिव को कपूर कि सुगंध अतिप्रिय है और ये वातावरण को भी शुद्ध और पवित्र बनाती है | पूजा में इसके उपयोग से शिवजी जल्दी प्रसन्न होते है | 
- भगवान शिव पर जल चढ़ाने का महत्व भी समुनदर मंथन कि कथा से जुड़ा है | विष पिने के बाद उनका कंठ नीला पड़ गया था और इसी गर्मी को समाप्त करने के लिए समस्त देवी - देवताओ ने उन्हें जल अर्पित किया था | 
- शिव के 3 नेत्रो का प्रतीक है बिल्वपत्र | इसलिए तीन पत्तियो वाला बिल्वपत्र भगवान शिव को अत्यंत प्रिय है | भोलेनाथ के पूजन में अभिषेक व बिल्वपत्र का विशेष महत्व है | 


- गर्न्थो के अनुसार शिव पूजा में एक आंकड़े का फूल चढ़ाना सोने के दान के बराबर फल देता है | यह शिवजी का प्रिय पुष्प है | 
- मान्यता है कि भगवान शिव कैलाश पर्वत पर रहते थे जो कि एक ठंडा क्षेत्र है जहा ऐसे आहार और औषधि कि जरूरत होती है जो शरीर को ऊर्जा करे | धतूरा भी इन्ही औषधियों में से एक है | 
- भोलेनाथ हमेशा ध्यानमग्न रहते है | भांग ध्यान केंद्रित करने में मदगार होती है | उचित मात्रा में भांग का प्रयोग शरीर को ठंडक पहुँचाता है, इसलिए भांग भी उन्हें प्रिय है | 

इस प्रकार ऊपर बताई गयी सामग्री का प्रयोग भगवान शिव कि पूजा के समय करने से आपको निश्चित ही मनचाहा फल प्राप्त होता है | बाबा जी Famous muslim astrologer द्धारा बताये गए इन चमत्कारिक उपायो से आप निश्चित ही सभी परेशनियो से छुटकारा प् सकते है | अगर आप किसी भी प्रकार कि समस्या के समाधान के बारे में जानना चाहते है तो आप हमारे पंडित जी सम्पर्क कर सकते है |     

6 comments: